Get Indian Girls For Sex
           

(मैंने आंटी की चूत में पुरे का पूरा लंड एक ही झटके में घुसा दिया. आंटी ने अपने कुलहो को दोनों हाथो से खोला और लंड के पेनेट्रेशन को और भी डीप बनाया.)

12391245_143261086042935_1105392480687007892_n

मैं जैसे ही सुशिल के घर में दाखिल हुआ मैंने देखा की उसका घर पैसेदार लोगो के जैसा ही था. सुशिल को मैं तिन दिन पहले कंप्यूटर क्लास में मिला था. मेरी तरह वो भी कोलेज के फर्स्ट इयर में फेल हुआ था और उसकी मम्मी बिन्नो आंटी ने उसे टाइम बचाने के लिए कंप्यूटर क्लास ज्वाइन करवा दिए थे. आज मैंने पहली बार उसकी माँ को देखा था; करीब 39-41 की होंगी, चौड़ी छाती और सेक्सी गांड. वैसे मैं आप लोगो को मेरे बारे में तो बताना ही भूल गया. मेरा नाम अनिल राजारी हैं और मैं 19 साल का हूँ, मुझे आंटी और भाभियों की चूत मारना बहुत ज्यादा ही पसंद है. सब से बड़ा फायदा आंटियो को रखेल बनाने में या उनके रखेल बन जाने में हैं क्यूंकि चूत की चूत मिलती हैं और पैसे का बोनस. मैंने भी एक टाका भिड़ा के रखा था दो महीने पहले. केराला के एक अंकल की बीवी थी, उसकी काली चूत में जम के मारता था, शायद इसलिए ही मैं फ़ैल भी हुआ था. उस आंटी के रखेल बनने का बड़ा फायदा यह था की उसका पति बड़ी पहचान वाला था तो किसी ठोले ने रास्ते में पकड़ भी लिया तो आंटी के साथ मोबाइल पर बात करवा दो, काम हो जाता था.
लेकिन वो आंटी के पति का तबादला हो गया और मैं रखेल से रंडवा हो गया और मुझे अभी ऐसी ही आंटी की तलाश थी. मुझे सेक्स का कीड़ा सुशिल की माँ बिन्नो में भी दिखा. मैंने उसी शाम सुशिल से बात कर के पता लगाया की उसके पिताजी का देहांत कुछ 4 साल पहले हुआ था. इसका मतलब 4 साल के बिन्नो आंटी की चूत तरसी हुई थी. मुझे लगा की यहाँ काँटा डाला तो बड़ी मछली फसेंगी. बिन्नो आंटी एक बेंक में काम करती थी और तगड़ी तनख्वाह लेती थी. मैं अगले दिन से सुशिल के घर ज्यादा से ज्यादा जाने