Get Indian Girls For Sex
           


indian-pregnant

दोस्तों मेरी कामुक इंडियन भाभी स्वेता की कहानी सुना रहा हूं। कालेज के एक सीनियर थे जिन्हें हम अक्सर भैया भैया कह कर बुलाते थे। संतोष भैया, फिजिकल एजुकेशन के एमपीएड के स्टूडेंट। दबंग आदमी, एक दम मवाली टाइप, पर घर में बीबी के सामने टाएं टाएं पुच्च!! चुदाई के वक्त लंड खड़ा नहीं होता और अगर खड़ा होता तो फिर जल्दी ही उसकी पुच्च हो जाती। अक्सर यह समस्या उनके साथ रहती, इसलिए शाम को वो शराब की बोतल ले के घर आते और परीक्षा में फेल हो जाने पर बोतल चढा के सो जाते। तो यह बात सिर्फ और सिर्फ मुझे पता थी क्योंकि मैं अकेला जूनियर था जिसको कि यह बात पता थी। ऐसा वाकया कैसे हुआ आईये बताता हूं। एक शाम हम और संतोष भैया ने छक कर के पी।

संतोष भैया ने सीनियर बनने में कुछ ज्यादा ही चढा लिया और फिर जब नशा हुआ तो मुझे उनको सहारा देकर उनके घर लाना पड़ा। अंदर भाभी भी थीं उन्होंने कहा कि आपने तो बहुत पी हुई है आप भी मत जाईये और गेस्ट रुम में रुक जाईये। मैने देखा आते हि संतोष भैया स्वेता भाभी को रंडी और क्या क्या कहने लगे। अपने मुह को ढक कर रोती और आंसू पोंछती वो मस्त कामुक भाभी मुझे तब बहुत बेचारी लग रही थी और मैं क्या करुं, सच तो ये है कि स्वेता भाभी की कामुक इंडियन जवानी को देख कर मेरी नीयत बहुत दिनों से खराब थी, पर आज ये मौका मुझे कुछ अहसास दिला रहा था कि शायद कुछ हो पाए। संतोष भैया भाभी को बेडरुम में ले गए और वहां जाकर दोनों ने खूब लड़ाई की और फिर वह बिना खाए पिये लुढक कर सो गये। उनको यह खबर न थी कि मै भी यहीं रुका हूं। निश्चिंत होकर वो सो गये। भाभी ने परांठे बनाए और हम दोनों डिनर पर साथ बैठे।

कामुकता की हद पार की।

उनके आंचल को ढुलका देख कर मैने देखा, उस कामुक इंडियन निर्दोष जवानी वाली स्वेता भाभी के चूंचे पर एक लाल निशान जैसे कि अभी खून टपकने वाला हो ऐसा लग रहा था। मैने पूछ लिया, भाभी ये क्या हुआ तो बेबाकि से बोल पड़ीं। तुम मर्द ना, जब अपनी पत्नी को सटिश्फाई नहीं कर पाते तो उ